Breaking News

मप्र के भ्रष्ट अधिकारियों पर ED की नजर

मप्र के भ्रष्ट अधिकारियों पर ED की नजर: 5 इंजीनियरों की संपत्ति का मांगा गया ब्यौरा, 3 हजार 333 करोड़ के निर्माण कार्यों में गड़बड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का है मामला।

भोपाल। मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचार चरम पर हैं. प्रदेश में करप्शन के मामले में अफसर काफी आगे हैं. ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों पर ED (प्रवर्तन निदेशालय) की नजर है। ED ने जल संसाधन विभाग के 5 इंजीनियरों की संपत्ति का ब्यौरा मांगा है. जिसमें राजीव सकुलीकर, शरद श्रीवास्तव, शिरीष मिश्रा, अरविंद उपमन्यु और प्रमोद कुमार मिश्रा शामिल है।
जानकारी के मुताबिक 3,333 करोड़ के निर्माण कार्यों में गड़बड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सभी इंजीनियर संदिग्ध हैं. चल-अचल संपत्ति और नौकरी में आने तक के वेतन का भी हिसाब मांगा गया है। 2018-19 के बीच सिंचाई परियोजना के दस्तावेज़ों को लंबे समय से ED खंगाल रही थी।
छत्तीसगढ़ में भी खनन, अवैध वसूली या ज़मीन से जुड़े मामले में कार्रवाई कर चुकी है। सिंचाई परियोजना के निर्माण में ठेकेदार को एडवांस 800 करोड़ का भुगतान किए जाने का मामला है। इस मामले में भी राजीव कुमार संदिग्ध हैं. भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ ED की सर्वे की कार्रवाई होगी।

Check Also

आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री भरत यादव ने नगर पालिका अधिकारियों को निलंबित कर दिया।

🔊 Listen to this आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री भरत यादव ने शासकीय योजनाओं …